Shayari

Dil Se Khelna Shayari | दिल से खेलना शायरी

Dil Se Khelna Shayari – किसी के दिल से कभी नहीं खेलना चाहिए क्योंकि जब किसी के जज्बातों का मजाक उड़ाया जाता है तो वह व्यक्ति अंदर से टूट जाता हैं. जो किसी दिल से खेलते है, उनके दिल से भी कोई न कोई जरूर खेलता हैं. दिल एहसास बड़े नाजुक होते है इनका हमेशा कद्र करें।

इस पोस्ट में बेहतरीन दिल से खेलना ( Dil Se Khelna Shayari ) शायरी दिए हुए हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े, इन्हे अपना व्हाट्सऐप स्टेटस बनाये और फेसबुक और ट्विटर पर भी शेयर करें।

दिल से खेलना शायरी | Dil Se Khelna Shayari

खिलौना समझकर किसी का दिल तोड़ते नहीं हैं,
अगर इश्क़ करते है तो साथ छोड़ते नहीं है.


बचपन में जो नहीं खेलते है खिलौनों से,
अक्सर वही खेलते है लोगो के दिलों से.


दिल से खेलना हमने सीखा ही नहीं,
जिसकी वजह से इश्क में हार गए,
मेरे इश्क़ में जो जान देने को तैयार थे
आज वो मुझे जिंदा ही मार गए.


क्या तेरे होठो पर अब भी है वही हंसी और वही लाली,
मेरे दिल से खेलने वाली, मेरे दिल को तोड़ने वाली।


जब हम अपना दिल किसी दिल से है जोड़ते,
खुद का दिल तोड़ देंगे पर उनका दिल नहीं तोड़ते।


टूटे हुए खिलौने और दिल के
खरीददार नहीं मिलते हैं,
इस जहाँ में सब कुछ मिलता है
पर सच्चे दिलदार नहीं मिलते हैं.


Dilo Se Khelna Shayari

हमे पता नहीं था दिल से खेलने की आदत है तुम्हें
वरना तुम जैसे चाहने वाले बहुत मिले है हमें।


1 2Next page

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close