Shayari

झोपड़ी शायरी | Jhopadi Shayari

Jhopadi Shayari – किसी के महल में गुलामी करने से लाख गुना अच्छा है कि अपनी झोपड़ी में बादशाह की तरह रहा जाए. ज्यादातर ईमानदार लोग झोपड़ी में ही रहते है और इसी वजह से उन्हें चैन की नींद आती हैं. इस पोस्ट में बेहतरीन झोपड़ी शायरी दिए हुए हैं. इन शायरी को जरूर पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें.

Jhopadi Shayari in Hindi

झोपड़ी पर शायरी | Jhopadi Shayari

जिन्दगी भर दर्द सहते हैं,
जो लोग झोपड़ी में रहते हैं,
विचारों से अमीर होते है
क्यों लोग इन्हें गरीब कहते हैं.


बेईमानी तो महलों में पलती है,
सच्चाई तो झोपड़ी में ही रहती हैं.


झोपड़ी देखकर दोस्त, दोस्त को नहीं पहचानते हैं,
वक्त कब, किसका बदल जाएँ वो नहीं जानते है.
Shayari on Jhopadi in Hindi


गरीबों के लिबास को न देखे,
उनके दुःख-दर्द, भूख प्यास को देखे.


झोपड़ी शायरी | Shayari on Jhopadi

जिंदगी में हर उलझन का मिलता नहीं समाधान,
समझ में न आये ऐसा है कुदरत का विधान,
हर झोपड़ी कहती है – ‘अतिथि देवो भवः’
और हर बंगले पर लिखा है -‘कुत्ते से सावधान’.


किस्मत का लिखा कोई मिटा नहीं सकता हैं,
कीमत झोपड़ी की कोई बता नहीं सकता हैं.
Jhopadi Par Shayari


किसी की झोपड़ी जलाने से बेहतर है,
कि हम अपने अंदर के रावण को जला दें.


कुदरत का करिश्मा तो देखिये
कि झोपड़ी में रहने वाले भी सुकून से सोते है,
धन-दौलत की ढेर पर बैठे
महलों में रहने वाले वो अमीरजादे भी रोते है.


1 2 3Next page

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close