Poem

यातायात पर कविता | Traffic Poem

Traffic Poem in Hindi – हर बड़े शहर में जाम लगना एक आम समस्या हैं जिसके लिए कुछ सरकार तो कुछ हम-आप लोग भी जिम्मेदार हैं. शहरों की बढ़ती जनसख्या, गाड़ियों की बढ़ती संख्या, सरकार की दूरदर्शिता में कमी जिसकी वजह से जाम लगते हैं. ट्रैफिक जाम की समस्या पर इस बेहतरीन कविता को जरूर पढ़े.

ट्रैफिक पोएम | Poem on Traffic in Hindi

ट्रैफिक का जाम हो जाना
तुम्हारा परेशान हो जाना
इसका जिम्मेदार कौन है
इस बात से अनजान हो जाना
सरकारों पर ऊँगली उठाना
ये आदत है पुराना

कुछ तो ज़िम्मेदारी लो
हकीकत तुम भी जान लो
क्या आप पुब्लिक ट्रांसपोर्ट का
इस्तेमाल कर सकते हैं
थोड़ा मुश्किल है क्योंकि
आप दिखावे के बैगर कैसे रह सकते हैं
पता सारे कायदे हैं
वही अच्छा लगता हैं
जिसमें फायदें हैं
सड़को पर बढ़कर घर बनाना
रास्ते में गाड़ी खड़ी कर चले जाना
सरकारों में दोष निकालना
ये आदत है आपका पुराना

थोड़ा पैदल भी चल सकते हैं
पर मोटर साइकिल के बिना कैसे रह सकते हैं
पैदल न चलने से आपको कई बीमारियाँ हैं
पर आप बिना मोटर साइकिल के चल नही सकते हैं.

ट्रैफिक जाम से निजात पाना है
तो सबको साथ में आना है
इस समस्या पर सरकार का ध्यान लाना हैं
सबको जागरूक बनाना हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close